0

वसंत पंचमी 2020 :याद कर लीजिए आपकी राशि का विशेष सरस्वती मंत्र

गुरुवार,जनवरी 16, 2020
sarasvati mantra
0
1
अगर आप मां सरस्वती के मंत्र और श्लोक नहीं जानते हैं तो वसंत पंचमी के दिन इन 11 नामों को 11 बार जपें। यश, विद्या, पराक्रम और बुद्धि के लिए बस यही 11 नाम पर्याप्त हैं। ये नाम असंभव को संभव बना देते हैं।
1
2
मकर संक्रांति के दिन नीचे दिए गए मंत्रों में से जो भी मंत्र आसानी से याद हो सकें उसके द्वारा सूर्य देव का पूजन-अर्चन करें। फिर अपनी मनोकामना मन ही मन बोलें।
2
3
इस मंत्र को मकर संक्रांति के दिन पढ़ने से हर तरह के कार्य सिद्ध होते हैं। विशेषकर संतान प्राप्ति और रोजगार के लिए इस मंत्र का आश्चर्यजनक प्रभाव देखा गया है।
3
4
लाल किताब की तरह की काली किताब में भी समस्याओं के समाधान के उपाय बताए गए हैं, लेकिन काली किताब में कुछ ऐसे उपाय भी हैं जिन्हें अंधविश्वास या तंत्र की श्रेणी में रखा जाता है। पाठक अपने विवेक से काम लें। यहां जो लिखा गया है वह सिर्फ जानकारी हेतु है।
4
4
5
मकर संक्रांति के दिन इन सूर्य नामों से सूर्य को जल चढ़ाने पर विशेष फल की प्राप्ति होती है। प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करने से मन शांत और प्रसन्न होता है... प्रत्येक राशि का एक सूर्य नाम है। वैसे 12 ही नाम शुभ फल प्रदान करते हैं।
5
6
मकर संक्रांति के दिन नीचे दिए गए मंत्रों में से जो भी मंत्र आसानी से याद हो सकें उसके द्वारा सूर्य देव का पूजन-अर्चन करें। फिर अपनी मनोकामना मन ही मन बोलें। भगवान सूर्य नारायण आपकी मनोकामना अवश्य पूर्ण करेंगे।
6
7
हिन्दू धर्मानुसार भगवान सूर्य देव एक मात्र ऐसे देव हैं जो साक्षात लोगों को दिखाई देते हैं। इसके अलावा एक प्रत्यक्ष देव के रूप में सूर्य देव का वर्णन कई जगह किया गया है।
7
8
ज्योतिष शस्त्र के अनुसार 9 ग्रहों में शनि को न्यायाधीश माना गया है। शनि ही हमारे अच्छे और बुरे कर्मों का हिसाब-किताब रखते हैं। शनि 24 जनवरी, शुक्रवार को धनु से मकर राशि में प्रवेश करेंगे।
8
8
9
चंद्र ग्रहण को मंत्रों की सिद्धि के लिए सर्वश्रेष्ठ समय माना गया है। निम्नलिखित मंत्रों का ग्रहणावधि तक लगातार जप करें
9
10
यह लेख समाज में प्रचलित अंधविश्वास या मान्यता पर आधारित है। इसकी वास्तविकता की पुष्टि नहीं की जा सकती। भारत में कई तरह का ज्ञान और विधाओं का प्रचलन है लेकिन सभी का हिन्दू वैदिक धर्म से संबंध जोड़ दिया जाता है जबकि अधिकतर उसमें से स्थानीय संस्कृति और ...
10
11
हर साधारण परिस्थिति वाले मनुष्य के मन में यह प्रश्न उठता है कि वह दरिद्रता और अपना दुर्भाग्य कैसे दूर करें, इसके लिए व्यक्ति धन कमाने का प्रयास करता है।
11
12
3 जनवरी से शाकंभरी नवरात्रि प्रारंभ हो रही है, जो 10 जनवरी तक जारी रहेगी। पौष शुक्ल पूर्णिमा के दिन मां शाकंभरी जयंती मनाई जाएगी। शाकंभरी नवरात्रि के 9 दिनों में नीचे लिखे मंत्रों का
12
13
कहते हैं कि मं‍त्र से किसी देवी या देवता को साधा जाता है, मंत्र से किसी भूत या पिशाच को भी साधा जाता है और मं‍त्र से किसी यक्षिणी और यक्ष को भी साधा जाता है। 'मंत्र साधना' भौतिक बाधाओं का आध्यात्मिक उपचार है। मंत्र के द्वारा हम खुद के मन या मस्तिष्क ...
13
14
चौकी बांधना, यह शब्द बहुत सुनने में आया है। क्या होता है चौकी बांधना और क्या यह सही है? हालांकि इसे अंधविश्वास माना जाता है। आपने पुलिस चौकी शब्द तो सुना ही होगा। बस इसी तरह से चौकी बांधना का अर्थ होता है किसी जगह, धन, खजाने आदि की रक्षा करना। यहां ...
14
15
ग्रहण काल में मंत्र जपने के लिए माला की आवश्यकता नहीं होती बल्कि समय का ही महत्व होता है।यदि आपके शत्रुओं की संख्या अधिक है व आप परेशान हैं तो बगुलामुखी का मंत्र जाप करें।
15
16
पौष मास के रविवार का शास्त्रों में अत्यधिक महत्व बताया गया है। अत: पौष मास में सूर्य देव की आराधना इस प्रकार की जानी चाहिए। आइए जानें
16
17
नववर्ष 2020 आने वाला है। अगर आप भी नए साल को भाग्यशाली बनाना चाहते हैं तो आपको ये खास ज्योतिषीय उपाय अवश्‍य करना चाहिए। हम यहां 12 राशियों को लेकर आए हैं बहुत ही अनोखे उपाय, आइए जानें...
17
18
मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की पूजा करना चाहिए। हिन्दू पंचांग के अनुसार वर्ष का नवां महीना मार्गशीर्ष कहलाता है।
18
19
बुधवार, 11 दिसंबर 2019 को दत्त पूर्णिमा अथवा दत्त जयंती मनाई जा रही है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सृष्टि में एक भगवान हुए हैं जिन्हें ब्रह्मा विष्णु महेश तीनों का स्वरूप माना जाता है।
19
विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®