0

रक्षा बंधन पर शिक्षाप्रद कहानी : पर्यावरण संरक्षण है सच्चा बंधन

मंगलवार,अगस्त 13, 2019
story on raksha bandhan
0
1
एक जौहरी के निधन के बाद उसका परिवार संकट में पड़ गया। खाने के भी लाले पड़ गए। एक दिन उसकी पत्नी ने अपने बेटे को नीलम का एक हार देकर कहा-
1
2
एक पहाड़ की ऊंची चोटी पर एक बाज रहता था। पहाड़ की तराई में बरगद के पेड़ पर एक कौआ अपना घोंसला बनाकर रहता था। वह बड़ा चालाक और धूर्त था।
2
3
एक आदमी के घर भगवान और गुरु दोनो पहुंच गये। आदमी बाहर आया और भगवान के चरणों में गिरने लगा। तो भगवान बोले-रुको रुको पहले गुरु के चरणों में जाओ। आखिर ऐसा क्या खास है गुरु में कि भगवान ने आदमी को
3
4
एक शिष्य अपने गुरु से सप्ताह भर की छुट्टी लेकर अपने गांव जा रहा था। तब गांव पैदल ही जाना पड़ता था। जाते समय रास्ते में उसे एक कुआं दिखाई दिया।
4
4
5
एक बार की बात है, एक बकरी थी। वो बहुत खुशी-खुशी अपने गांव में रहती थी। वो बहुत मिलनसार थी। बहुत सारी बकरियां उसकी सहेलियां थीं। उसकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। वो सभी से बात कर लेती थी और सभी को अपना दोस्त मान लेती थी।
5
6
एक बार की बात है, किसी जंगल में एक कौवा रहता था, वो बहुत ही खुश था, क्योंकि उसकी ज्यादा इच्छाएं नहीं थीं। वह अपनी जिंदगी से संतुष्ट था, लेकिन एक बार उसने जंगल में किसी हंस को देख लिया और उसे देखते ही सोचने लगा कि ये प्राणी कितना सुन्दर है, ऐसा ...
6
7
दूसरे दिन मोहल्ले में हल्ला मचा कि रतनलालजी के घर में चोरी हो गई। पुलिस की गाड़ी हूटर बजाती हुई आई और चोरी वाले घर के सामने भीड़ लग गई। रतनलालजी एक दिन पहले ही से नागपुर गए थे और सुबह ही वापस आए थे। घर का सारा सामान उन्होंने बिखरा पाया और अलमारी का ...
7
8
जब दिन के खाने का समय हुआ तब आस-पास बैठे सभी लोग अपना टिफिन खोलकर खाने लगे। उन्हें देख लड़के की भी भूख जाग गई और उसने भी अपना टिफिन निकाला लेकिन क्या मिला लड़के को टिफिन में? उसके बाद क्या हुआ जानने के लिए नीचे देख रहे वीडियो पर क्लिक करें और देखें ...
8
8
9
एक बार कि बात है, एक महात्मा अपने कुछ शिष्यों के साथ पैदल ही यात्रा पर थे। वे चलते-चलते किसी गांव में पहुंच गए। ये गांव काफी बड़ा था, वहां घूमते हुए उन्हें काफी देर हो गयी थी। महात्मा जी थक चुके थे और उन्हें बहुत प्यास लगी थी, तो उन्होनें अपने एक ...
9
10
किसी गांव में एक व्यापारी रहता था तथा उसकी भगवान में बड़ी आस्था थी। एक बार व्यापारी किसी दूसरे शहर से अपने घर लौट रहा था। बस से उतरकर वह पैदल अपने घर के रास्ते पर जा रहा था, तभी रास्ते में उसे एक बड़ा सा चमकीला पत्थर दिखा। उस पत्थर की ओर व्यापारी ...
10
11
एक गांव में एक किसान रहता था, उसे जानवरों से बहुत प्यार था इसलिए उसने अपने घर में बहुत सारी गाय और भैंस पाल रखी थीं। उन्हीं का दूध बेचकर वह अपना जीवन यापन करता था। एक बार किसान ने एक कुत्ते और खरगोश को भी पाल लिया। कुछ दिन बाद उसके मन में इन दोनों ...
11
12
एक महिला अपने आने वाले बच्चे के लिए बहुत सपने देखने लगी थी। लेकिन उसे नहीं पता था कि जो बच्चा आना वाला है, वो इस दुनिया के बारे में क्या सोचता है? क्या वो बच्चा इस दुनिया में आना चाहता था?
12
13
एक बार कि बात है एक संत थे, वे अक्सर यात्रा पर रहते थे और उनका नियम था कि वे ऐसे ही लोगों के घर आश्रय लेते थे, जिनका अचार विचार अच्छा हो और घर पवित्र हो। इस बार उन्होंने वृन्दावन जाने का सोचा लेकिन पहुँचने से पहले ही जब वो कुछ मील की दूरी पर थे तब ...
13
14
'वेबदुनिया' बच्चों के लिए लेकर आया है एक नया यू ट्यूब चैनल जिसका नाम है 'किड्स दुनिया'। यह चैनल पूरी तरह से बच्चों को समर्पित है। 'किड्स दुनिया' बढ़ते बच्चों का सच्चा साथी है। जब अभिभावक अपने बच्चों को 'किड्स दुनिया' से जोड़ेंगे तो पाएंगे कि
14
15
गोलू स्कूल से घर लौटते ही दादाजी के कमरे की ओर दौड़ा। दादाजी... दादाजी... आपसे एक बहुत ही जरूरी सवाल पूछना है। हांफते हुए बोला।
15
16
एक बार की बात है किसी गांव में एक लड़का रहता था। उसका नाम छोटू था, वो दिनभर खेतों में काम करता और खेती करके ही अपने परिवार का गुजारा चलता था। छोटू वैसे तो अब बड़ा हो गया था लेकिन
16
17
महात्मा जी ने इस दूसरे शिष्य से पूछा कि नदी का पानी तो गंदा था फिर तुम ये पानी कैसे लाए? शिष्य बोला की गुरू जी, नदी का पानी वास्तव में बहुत ही गंदा था। लेकिन लोगों के नदी से चले जाने के बाद
17
18
राजा ने तोते की बात मान ली और उससे कहा कि ठीक है पर तुम्हें पांच दिनों में वापस लौटना होगा। वह तोता खूशी-खूशी जंगल की ओर उड़ गया और अपने माता-पिता से मिलकर बहुत खुश हुआ। अब पांच दिन बीत चुके थे
18
19
जो काम करो पूरे 100 प्रतिशत मोहब्बत और मेहनत के साथ करो। विपरीत स्थिति में किसी को दोष मत दो, हो सकता है उसमें कुछ अच्छा छुपा हो...
19
विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®