12 दिन से अनशन पर बैठीं स्वाति मालीवाल की तबियत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

पुनः संशोधित रविवार, 15 दिसंबर 2019 (08:18 IST)
नई दिल्ली। महिला सुरक्षा को लेकर पिछले 12 दिन से राजघाट पर अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला की अध्यक्ष की तबीयत बिगड़ गई है। उन्हें LNJP अस्पताल ले जाया गया है।आज अनशन का 13वां दिन है।

प्रमुख स्वाति मालीवाल ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर पूरे देश में 'दिशा विधेयक' तत्काल लागू करने की मांग की जिसमें महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के मामलों को 21 दिन के भीतर निस्तारित करने और मौत की सजा का प्रावधान है।
आमरण अनशन की वजह से अब तक उनका वजन करीब 6.3 किलो कम हो चुका है। शुक्रवार को डॉक्टरों ने जब उनकी जांच की तो ब्लड प्रेशर 90/70 पाया गया। डॉक्टरों का कहना है कि स्वाति मालीवाल का ब्लड प्रेशर लगातार गिरता जा रहा है।
शुक्रवार को आंध्रप्रदेश विधानसभा ने विधेयक को पारित कर दिया। प्रस्तावित नए कानून को उस पशु चिकित्सक को श्रद्धांजलि के तौर पर आंध्रप्रदेश दिशा एक्ट क्रिमिनल लॉ (आंध्र प्रदेश अमेंडमेंट) एक्ट, 2019 नाम दिया गया है जिसकी हाल में तेलंगाना में बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई थी।
हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर के साथ गैंगरेप और जिंदा जलाने की घटना के बाद महिला सुरक्षा को लेकर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल अनशन पर बैठी हुई थीं। वे रेप को दोषियों को 6 महीने में फांसी देने की मांग कर रही थी।

आमरण अनशन पर बैठने से पहले स्वाति ने ट्वीट किया था- 'बहुत हो गया! नन्ही 6 साल की बेटी और हैदराबाद रेप पीड़िता की चीख़ें मुझे 2 मिनट बैठने नही दे रही। रेपिस्ट को हर हाल में 6 महीने में फांसी हो -इस कानून को लागू करवाने के लिए मैं कल से जंतर मंतर पे आमरण अनशन पे बैठ रही हूं। तब तक अनशन करूंगी जब तक महिलाओ को सुरक्षा की गैरंटी न मिलती!'

 

और भी पढ़ें :