0

paush maas 2020 : पौष माह में हिन्दू व्रत और त्योहार

बुधवार,दिसंबर 11, 2019
0
1
सपने में कशीदाकारी हुए कपड़े या वस्त्र को देखने पर सुंदर एवं सुशील स्त्री की प्राप्ति हो सकती है।
1
2
मां लक्ष्मी धन की देवी है। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कई तरह के उपाय किए जाते हैं। लेकिन कई बार जाने-अनजाने ऐसी गलतियां हो जाती हैं जिसकी वजह से धन की देवी मां लक्ष्मी घर में प्रवेश नहीं करती। आइए जानते हैं जाने-अनजाने में की गई 5 गलतियों ...
2
3
विवाह पंचमी 1 दिसंबर 2019 दिन रविवार को मनाई जाएगी। मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को एक समय व्रत रखकर नागों का पूजन करने वाले मनुष्य की अनेक कामनाएं पूरी हो जाती है।
3
4
सुलेमान शरीफ का कहना है कि राम हमारे दिल में हैं। हर तरह का झगड़ा अब खत्म होना चाहिए।
4
4
5
विवाह पंचमी का पर्व बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 1 दिसंबर 2019 को है। इस अवसर पर हम आपको बता रहे हैं श्रीरामचरित मानस के अनुसार, श्रीराम ने सीता को पहली कहां और कब देखा था तथा श्रीराम-सीता विवाह का संपूर्ण प्रसंग
5
6
द्वापर युग में भगवान श्रीकृष्ण ने इसी दिन अर्जुन को भगवद्गीता का उपदेश दिया था। इसीलिए यह तिथि गीता जयंती के नाम से भी प्रसिद्ध है। वर्ष 2019 में गीता जयंती रविवार, 8 दिसंबर को मनाई जा रही है।
6
7
वि + वाह = विवाह अर्थात अत: इसका शाब्दिक अर्थ है- विशेष रूप से (उत्तरदायित्व का) वहन करना। विवाह को पाणिग्रहण कहा जाता है। दरअसल, विवाह संस्कार हिन्दू धर्म संस्कारों में 'त्रयोदश संस्कार' है।
7
8
शास्त्रों के अनुसार विवाह आठ प्रकार के होते हैं। विवाह के ये प्रकार हैं- ब्रह्म, दैव, आर्श, प्राजापत्य, असुर, गन्धर्व, राक्षस और पिशाच। उक्त आठ विवाह में से ब्रह्म विवाह को ही मान्यता दी गई है बाकि विवाह को धर्म के सम्मत नहीं माना गया है।
8
8
9
दिन का आरंभ प्रेम से करो। प्रेम से दिन व्यतीत करो। प्रेम से ही दिन को भर दो। प्रेम से दिन का समापन करो। यही प्रभु की ओर का मार्ग है।
9
10
मंदिर जाने के कुछ साइंटिफिक हेल्थ बेनिफिट्स भी हैं। अगर हम रोज मंदिर जाते हैं, तो इससे कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स कंट्रोल की जा सकती हैं। यहां जानिए ऐसे 7 फायदे, जो हमें रोज मंदिर जाने से मिलते हैं।
10
11
बुधवार, 13 नवंबर से नया हिन्दी माह अगहन शुरू हो गया है। मंगलवार, 19 नवंबर को कालभैरव अष्टमी है। भगवान कालभैरव के लिए विशेष पूजा-पाठ किए जाते हैं।
11
12
अंकों में 13 नंबर को अशुभ या मनहूस समझा जाता है लेकिन क्या कभी आपने इसका कारण जानने की कोशिश की है? आइए आज इन 14 बातों से जानें 13 के अंक का रहस्य ...
12
13
देवपूजा के स्थान पर इस कलश को अग्रस्थान प्राप्त होता है। पहले इसका पूजन, फिर इसे नमस्कार और बाद में विघ्नहर्ता गणपति को नमस्कार! ऐसा प्राधान्यप्राप्त कलश और उसके पूजन के पीछे अति सुंदर भाव छिपा हुआ है।
13
14
राज राजेश्वर भगवान सहस्त्रबाहु अर्जुन की जयंती प्रतिवर्ष कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को मनाई जाती है। वर्ष 2019 में यह तिथि 3 नवंबर को आ रही है।
14
15
सतयुग में भगवान श्रीराम, द्वापर में दानवीर कर्ण और पांच पांडवों की पत्नी द्रौपदी ने सूर्य की उपासना की थी। छठी मैया की पूजा से जुड़ी एक क​था राजा प्रियवंद की है, जिन्होंने सबसे पहले छठी मैया की पूजा की थी।
15
16
छठ के महाव्रत को करना अत्यंत पुण्यदायक है। छठ व्रत सबसे महत्त्वपूर्ण रात्रि कार्तिक शुक्ल षष्ठी तिथि को होता है। सूर्योपासना का यह महापर्व चार दिनों तक मनाया जाता है।
16
17

Dipawali : अच्छा है एक दीप जला लें...

शुक्रवार,अक्टूबर 25, 2019
शरद ऋतु में पड़ने वाला रोशनी का पर्व दीपावली का त्योहार एक बार फिर नई उमंग व उत्साह को लेकर आया है। यूं तो देश का यह सबसे
17
18
मैं आदिदेव धन्वंतरि हूं, जो देवताओं के जरा, व्याधि और मृत्यु का हरण करने वाला है। अष्टांग आयुर्वेद के विशेष अंग शल्य का उपदेश करने हेतु अवतरित हुआ हूं।
18
19
अहोई अष्टमी का शुभ पर्व 21 अक्टूबर 2019 को है। इस दिन अहोई माता का पूजन और वंदना की जाती है। यह व्रत संतान की शुभता, सुरक्षा, लंबी उम्र और आरोग्य के लिए किया जाता है। आइए जानें 10 जरूरी बातें....
19