0

दक्षिण भारत के 18 सिद्धों में से एक बोगार

शुक्रवार,जनवरी 17, 2020
0
1
करीब 58 दिनों तक मृत्यु शैया पर लेटे रहने के बाद जब सूर्य उत्तरायण हो गया तब माघ माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को भीष्म पितामह ने अपने शरीर को छोड़ा था, इसीलिए यह दिन उनका निर्वाण दिवस है। आओ जानते हैं भीष्म पितामह के बारे में 10 रोचक तथ्य।
1
2
शुक्राचार्य का नाम तो सभी ने सुना होगा। वे दैत्य अर्थात असुरों के गुरु थे। उनकी ख्‍याति दूर-दूर तक फैली थी। आओ जानते हैं उनके बारे में 10 रोचक जानकारी।
2
3
रामानंद अर्थात रामानंदाचार्य वैष्णव भक्तिधारा के महान संत हैं। उन्होंने उत्तर भारत में वैष्णव सम्प्रदाय को पुनर्गठित किया तथा वैष्णव साधुओं को उनका आत्मसम्मान दिलाया।
3
4
अंडाल एक महिला महान अलवर संत एवं कवि है। वह 12 अलवर संतों में से एक मात्र महिला संत है। जिन्होंने अपना संपूर्ण जीवन भगवान विष्णु की भक्ति के लिए समर्पित कर दिया था। माना जाता है कि उनका जन्म 7 वीं शताब्दी ईस्वी के दौरान श्रीविल्लिपुथुर में हुआ था।
4
4
5
हनुमानजी के आपने बहुत सारे चित्र देखें होंगे। जैसे, हवा में उड़ते हुए, पर्वत उठाते हुए या रामजी की भक्ति करते हुए। आज हम आपको बताते हैं हनुमानजी के उन चित्रों के बारे में जिन्हें घर में लगाने से मिलता है अपार लाभ।
5
6
स्वामी विवेकादंन के बारे में भारत के युवा कितना जानते हैं? शायद बहुत कम या शायद बहुत ज्यादा? आओ जानते हैं 8 पॉइंट में उनके बारे में कुछ खास।
6
7

हिन्दू देवी भूदेवी का परिचय

शुक्रवार,जनवरी 10, 2020
धरती देवी के लिए संस्कृत नाम पृथ्‍वी है और उन्हें भूदेवी कहा जाता है साथ ही साथ हिन्दू धर्म में उन्हें भूमीदेवी भी कहा जाता है और वह भगवान विष्णु की पत्नी थीं। उन्हें बौद्ध ग्रंथों में भी वर्णित किया गया है। ऋग्वेद और कई प्राचीन पवित्र ग्रंथों में ...
7
8
अनया नयनार एक शैव संत है और उन्हें 63 नयनारों में से एक माना जाता है। वह भगवान शिव के नाम और मंत्र को अपनी बांसुरी से बजाते थे और ऐसे लगता था जैसे वे भगवान श्रीकृष्ण हों।
8
8
9
अक्का महादेवी लिंगायत संप्रदाय में एक प्रसिद्ध महिला कवयत्रि थीं। उन्होंने मन्त्रोगोप्य और योगांगत्रिवधि के रूप में लिखे अपने लेखन को कन्नड़ में प्रसिद्ध बनाया। कन्नड़ साहित्य में उनके योगदान के लिए उन्हें बसवन्ना, सिद्धराम और अल्लामप्रभु जैसे ...
9
10

हिन्दू देवता आकाश राज

शुक्रवार,जनवरी 3, 2020
आकाश देव को संस्कृत में द्यौस पितर कहा जाता है जो हिंदू धर्म के वैदिक देवता हैं। उन्हें 8 वसुओं में से एक माना जाता है जो भगवान इंद्र के दिव्य अनुचर हैं। उन्हें आकाश राज भी कहा जाता है। उनका वाहन गाय है। वे स्वर्ग और आकाश के देवता हैं। आकाशवाणी वे ...
10
11
हिन्दू पौराणिक कथाओं में तुम्बुरु गायकों में सर्वश्रेष्ठ और गंधर्वों के महान संगीतकार हैं। उन्होंने दिव्य देवताओं के दरबार के लिए संगीत और गीतों की रचना की थी। पुराणों में तुम्बरू या तुम्बुरु को ऋषि कश्यप और उनकी पत्नी प्रभा के पुत्र के रूप में ...
11
12
गणेशजी की ऋद्धि और सिद्धि नामक दो पत्नियां हैं, जो प्रजापति विश्वकर्मा की पुत्रियां हैं। सिद्धि से 'क्षेम' और ऋद्धि से 'लाभ' नाम के 2 पुत्र हुए। लोक-परंपरा में इन्हें ही 'शुभ-लाभ' कहा जाता है। शास्त्रों में तुष्टि और पुष्टि को गणेशजी की बहुएं कहा ...
12
13
भूथाथ या भूतनाथ अलवर (4203 ईसा पूर्व) बारह अलवरों में से एक है। उनका जन्म महाबलीपुरम में हुआ था। वे भगवान विष्णु के प्रति बहुत समर्पित थे, और हमेशा उनका नाम जपते रहते थे। बाहरी दुनिया से बिना किसी लगाव के केवल उनके बारे में ही सोचते रहते थे। इसलिए ...
13
14
पूषन एक वैदिक देवता है। पूषन वह देवता हैं जो विवाह के संचालन में मदद करते, सुरक्षित यात्रा प्रदान करते और उन दिलों में वास करते हैं जो पशुओं को भोजन खिलाते हैं। वह हमारे कर्मों के अनुसार वे फल देते हैं। वह आत्माओं को दूसरे संसार की यात्रा करने के ...
14
15
पार्वती देवी को दक्षिण भारत में अम्मन के नाम से भी जाना जाता है जिन्हें 'अम्मा" नाम से पुकारा जाता है, जो हिंदू देवी हैं और जिनमें श्रेष्ठ दैवीय ताकत और शक्ति है। हिंदू धर्म की सबसे महत्वपूर्ण देवियों में से एक हैं वह सौम्य देवी हैं।
15
16
पवन देव वायु के एक हिन्दू देवता हैं और वे हनुमान एवं भीम के पिता हैं। वह स्वर्ग के देवता भगवान इंद्र द्वारा नियंत्रित किए जाते हैं। वह भगवान विष्णु के सच्चे भक्त हैं।
16
17

हिन्दू देवी माता उषा

बुधवार,नवंबर 13, 2019
उषा को ऋग्वेद में एक शक्तिशाली देवी के रूप में माना जाता है और उनके महत्व का उल्लेख कई अन्य पवित्र ग्रंथों में भी किया गया है इसमें देवी शक्ति की शक्तियां भी शामिल हैं। ;उन्हें अन्य वैदिक देवताओं जैसे इंद्र, वरुण, अग्नि, सूर्य और सोम के समकक्ष माना ...
17
18
प्रतिवर्ष कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को सहस्रबाहु जयंती मनाई जाती है। कार्तवीर्य अर्जुन के हैहयाधिपति, सहस्रार्जुन, दषग्रीविजयी, सुदशेन, चक्रावतार, सप्तद्रवीपाधि, कृतवीर्यनंदन, राजेश्वर आदि कई नाम होने का वर्णन मिलता है। सहस्रबाहु ...
18
19

महर्षि अगस्त्य मुनि

शुक्रवार,नवंबर 1, 2019
परिचय : हिन्दू धर्म में अगस्त्य मुनि एक प्रसिद्ध संत हैं। उनकी पत्नी का नाम लोपामुद्रा था। रामायण और महाभारत में संत अगस्त्य मुनि का उल्लेख मिलता है। वह प्रसिद्ध सप्त ऋषियों में से एक और प्रसिद्ध 18 सिद्धों में से भी एक हैं। ऐसा माना जाता है कि वह ...
19
विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®